कुशीनगर बांसी नदी पर पक्के पुल के निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को आंदोलन की चेतावनी दी

0
201

अपने अस्तित्व के लिये लंबे समय से जद्दोजहद कर रहे कुशीनगर के दुदही ब्लाक के बांसगांव खैरवा गांव के लोगों ने अब आंदोलन की रूख अख्तियार किया है…बांसी नदी पर पक्के पुल के निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को आंदोलन की चेतावनी दी है…बांसगांव खैरवा सहित दर्जनों गांव के लोगों ने आज बांसी नदी में खड़े होकर और हाथों गंगाजल लेकर पुल ना बनने पर जल सत्याग्रह करने की सौगन्ध ली… ग्रामीणों ने बांसी नदी पर पुल न बनने तक सत्याग्रह आन्दोलन जारी रखने की बात कही।

तमकुहीराज तहसील के बांसगांव खैरवा और आस-पास के दर्जनों गांव के लोग कई साल से बांसी नदी पर पक्का पुल बनाने की मांग कर रहे हैं…खैरवा घाट पर पुल ना बनने से लगभग 22 गांव के लोग प्रभावित हैं….हजारों लोगों को हर रोज बांसी नदी पार करके खेती और बिहार में बाजार करने जाते हैं…दर्जनों गांव के हजारों लोग रोज जान हथेली पर रखकर इस नदी को पार करते हैं…नदी पार करते समय अब तक दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैं लेकिन शासन और प्रशासन की संवेदना नहीं जागी …..कई साल से गांव के लोग बांसी नदी पर पक्का पुल बनवाने की मांग कर रहे हैं लेकिन शासन और प्रशासन उनकी बात अनसुनी करता रहा है….साल भर पहले दर्जनों गांव के लोगों ने आंदोलन किया था जिसके बाद मजबूर होकर तत्कालीन जिलाधिकारी गांव में पहुंचे थे और कुछ दिन बाद ही पुल बनवाने का आश्वासन दिया था लेकिन उनका आश्वासन झूठा साबित हुआ और दर्जनों गांव के हजारों लोग पक्के पुल के लिये तरसते रहे…एकबार फिर इन गांव के लोगों ने आंदोलन का रूख अख्तियार किया है….गांव वालों का कहना है हर चुनाव में इस घाट पर पुल बनाने का मुद्दा उठता है लेकिन चुनाव बीतने के बाद यह मुद्दा गुम हो जाता है और नेता अपने वायदे से मुकर जाते हैं…।

LEAVE A REPLY