हरदोई-शव ले जाने के लिये एम्बुलेंस के लिए घण्टों भटकी महिला

0
257

हरदोई जिले में शव के साथ सरकारी अस्पताल में लापरवाही का एक मामला फिर सामने आया है जहां एक व्यक्ति की मौत के बाद उसकी पत्नी सरकारी डेड बॉडी वैन के लिए घंटो इधर-उधर भटकती रही। जबकि शव को ले जाने वाली वैन अस्पताल में ही खड़ी थी ।महिला का आरोप था कि किसी ने उससे पैसे की मांग भी की । बाद में जब मीडिया के लोगों की नजर इस पीड़ित महिला पर पड़ी और इस मामले में सवाल जवाब किए तब अस्पताल प्रशासन जागा और घंटो बाद शव को सरकारी वाहन से भेजा गया ।अभी चंद रोज पहले इसी अस्पताल में जली बहन को काँधे पर ले जाने का मामला सुर्खियों में रहा था।
सरकारी डेड बॉडी वैन के पास खड़ी यह महिला इस सरकारी डेड बॉडी वैन के चालक की तलाश में भटक रही है। दरअसल टडियावां थाने के बर्रा सराय गांव की रहने वाली इस महिला अंतिमा के पति चंद्रप्रकाश की आज जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी कक्ष में उपचार के दौरान मौत हो गई। महिला के पति की तबीयत खराब हुई तो सरकारी एंबुलेंस से इसे जिला चिकित्सालय में उपचार के लिए लाया गया था। यहां उपचार के कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई। पति की मौत के बाद महिला ने अस्पताल प्रशासन से पति के शव को ले जाने के लिए डेड बॉडी वैन मांगी लेकिन उसके बाद भी करीब 2 घंटे तक शव इमरजेंसी वार्ड में स्ट्रेचर पर पड़ा रहा और महिला डेडबॉडी वैन की तलाश में भटकती रही।शव को ले जाने के लिए डेड बॉडी वाहन अस्पताल में ही खड़ा था। लेकिन अस्पताल के जिम्मेदार लोगो ने इस पीड़ित महिला की मदद नहीं की। अस्पताल परिसर में रोती हुई इस पीड़ित महिला पर मीडिया की नजर पड़ी और सरकारी लापरवाही का यह मामला मीडिया के कैमरे कैद करने लगे। तब अस्पताल प्रशासन की नींद टूटी और आनन-फानन में ही डेड बॉडी वाहन से शव को भिजवाया गया। हालांकि अस्पताल प्रसाशन पैसे की बात को नकार रहा है लेकिन देरी को लेकर गोलमोल जबाब दे रहा है।

संवाददाता
एसएम आकिल

LEAVE A REPLY